मुख्यमंत्री की घोषणा को किसानों ने बताया जुमला

 

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

श्रीगंगानगर, 26 मार्च (UNI) मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ जिलों में चना-सरसों की सरकारी खरीद के सम्बन्ध में आज जिले के सूरतगढ़ कस्बे में आयोजित राहुल गांधी की चुनावी रैली में की गई घोषणा को किसानों ने जुमला करार दिया है।

किसान संगठनों ने कहा कि वे अपनी घोषणा के अनुसार कल श्रीगंगानगर जिला मुख्यालय पर पड़ाव डालेंगे। किसान संगठन मांग कर रहे हैं कि जिस प्रकार भाजपा सरकार के समय इन दोनों जिलों में चना-सरसों की खरीद के लिए विशेष व्यवस्था की गई थी, उसे ही जारी रखा जाये। इसके विपरीत राज्य सरकार ने खरीद व्यवस्था में कई अड़ंगे लगा दिये हैं, जिससे किसान आंदोलन करने पर उतारु हैं।

गंगानगर किसान समिति (जीकेएस) के प्रवक्ता संतवीर सिंह मोहनपुरा ने कहा कि तीन दिन पहले जिले के प्रभारी मंत्री और राजस्थान के शिक्षा राज्यमंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा को किसानों ने श्रीगंगानगर में सड़क पर ही घेर लिया था। तब श्री डोटासरा ने आश्वस्त किया था कि सरकार इस पर जल्दी निर्णय करेगी। आज सूरतगढ़ में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की चुनावी रैली में मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि इन दोनों जिलों में एक किसान की चने और सरसों की फसल 25 क्विंटल स्थान पर 40 क्विंटल की खरीद की जायेगी। इससे किसानों को राहत मिलेगी, लेकिन श्री गहलोत ने इस घोषणा को विस्तृत रूप से स्पष्ट नहीं किया।

उन्होंने कहा कि सरकारी खरीद में मौजूदा सरकार द्वारा लगाये गये अड़ंगे हटाने के सम्बंध में मुख्यमंत्री ने कुछ भी नहीं कहा है। सरकार ने सरकारी खरीद के लिए ठेकानामा, गिरदावरी और एक भामाशाह कार्ड को एक यूनिट मानने का अड़ंगा लगा दिया है, जो पिछले वर्ष भाजपा शासनकाल के समय नहीं थे। जब तक यह अड़ंगे नहीं हटाये जाते, तब तक किसान आंदोलन पर डटे रहेंगे। उन्होंने कहा कि पूर्व घोषणा के अनुसार कल जिला कलक्ट्रेट पर पड़ाव डाला जायेगा।

श्री मोहनपुरा ने कहा कि कांग्रेस सरकार से इलाके के किसान कुछ ज्यादा नहीं मांग रहे। मांग इतनी ही है कि जो खरीद व्यवस्था पिछले वर्ष थी, उसे इस वर्ष भी जारी रखा जाये। श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ जिलों में राज्य के अन्य जिलों की तुलना में फसलों का उत्पादन अधिक होता है। लिहाजा यहां सरकारी खरीद भी उसी के अनुपात में होनी चाहिए। राज्य सरकार चना का प्रति बीघा उत्पादन औसतन तीन क्विंटल 85 किलो मानती है, जबकि पिछले वर्ष श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ जिलों में प्रति बीघा चना का उत्पादन पांच क्विंटल 20 किलो तक हुआ है। इसी तरह सरसों का उत्पादन भी दूसरे जिलों की तुलना में ज्यादा है।

डाउनलोड करे चीनीमंडी न्यूज ऐप:  http://bit.ly/ChiniMandiApp  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here