ISMA ने JNPT से चीनी निर्यात में सहायता करने की मांग की

876

नई दिल्ली : इंडियन शुगर मिल्स असोसिएशन (इस्मा) द्वारा ‘JNPT’ के चेअरमैन संजय सेठी को चीनी निर्यात में सहायता करने की मांग की गई है। लॉकडाउन के कारण पिछले दो महीनों से चीनी निर्यात बिल्कुल ठप हुई है। इसलिए अब ठप निर्यात को गति देने के लिए ‘इस्मा’ ने पहल शुरू कर दी है।

‘इस्मा’ ने सेठी को लिखे पत्र में कहा है की, अतिरिक्त चीनी उत्पादन और अधिशेष चीनी समस्या से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने मिलों को इस सीजन के लिए 60 लाख टन चीनी निर्यात कोटा तय किया है। अब तक चीनी मिलों द्वारा 42 लाख टन निर्यात के अनुबंध किए गए है, और यह चीनी देश के कई बंदरगाहों पर निर्यात के लिए पहुंच रही है। लेकिन लॉकडाउन के कारण बंदरगाहों पर मजदूरों की कमी ने कामकाज प्रभावित किया है।

उन्होंने पत्र में कहा है की हम समझते हैं कि जेएनपीटी के आसपास Container Freight Stations (CFS) 20 से 30 प्रतिशत की क्षमता के साथ काम कर रहे हैं, और महामारी COVID-19 के कारण इसकी धीमा होने की संभावना है। कई निर्यातक चीनी मिलों से JNPT और उसके आस-पास स्थित CFS में चीनी ले जाने की प्रक्रिया में हैं और बड़ी संख्या में कंटेनरों को उठा चुके हैं। हालांकि, निर्यातकों को प्रतिदिन केवल 5 एफसीएल (full container load) निकालने की सलाह दी गयी है, क्योंकि CFS को नहीं पता है कि स्थिति कब खराब हो सकती है और बंद हो सकती है। उन्हें कस्टम्स द्वारा यह भी सूचित किया गया है कि CFS में उतारने और लोड करने के लिए श्रम और लॉरी चालकों की भारी कमी है।

ISMA ने कहा की चीनी उद्योग और निर्यातकों की स्थिति को देखते हुए कि चीनी मिलों को आवंटित की जाने वाली चीनी समय पर निर्यात की जानी है, क्योंकि चीनी पहले से ही कंटेनर में लोड करने के लिए बंदरगाहों के लिए ट्रांजिट में है। हम आपसे अनुरोध करते है कि कृपया मैकेनाइज्ड सिस्टम प्रदान करके समस्या का समाधान करें जैसे Movable Conveyor belts, dumpers, movable platforms और CFS के लिए जो कुछ भी आवश्यक है जिससे श्रम पर निर्भरता कम की जा सके और साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन हो सके। ISMA ने यह भी कहा की CFS और बंदरगाहों में काम करने वाले मजदूरों और लॉरी ड्राइवरों को उचित स्वास्थ्य सुविधा और आवास आदि भी दिए जा सकते हैं ताकि वे पोर्ट गतिविधियों के सुचारू संचालन के लिए काम फिर से शुरू कर सकें।

ISMA ने कहा की हम मामले में जल्द कार्रवाई के लिए बहुत आभारी होंगे।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here