गोवा की संजीवनी चीनी मिल कर्नाटक के गन्ना किसानों को बकाया भुगतान चुकाने में विफल

226

पोंडा: गोवा स्थित एकमात्र सरकारी चीनी मिल संजीवनी ने बुधवार तक कर्नाटक के गन्ना किसानों का भुगतान करने में विफल रही। किसानों को गत सोमवार और फिर बुधवार तक भुगतान किये जाने का आश्वासन दिया गया था।

किसानों ने कहा कि गत बुधवार तक उनके खातों में कोई भुगतान जमा नहीं किया गया। चीनी मिल के प्रशासक दामोदर मोरजकर ने कहा कि पैसे हस्तांतरित करने में इंटरनेट के कारण देरी हुई। मोराजकर ने कहा कि उन्होंने पहले ही अपना 70-80% बकाया जारी कर दिया है, पिछले साल भी इसी तरह की नेटवर्क समस्या थी और किसानों का बकाया आठ दिन तक अटका हुआ था। कर्नाटक ने गत साल 13 दिसंबर, 2018 और 28 फरवरी के बीच संजीवनी को 17,491 टन गन्ने की आपूर्ति की थी।

चीनी मिल को 101.22 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। सरकार ने सुनिश्चित किया कि किसानों द्वारा उत्पादित गन्ने को बाजार मूल्य पर खरीदा जाएगा। गोवा के मुख्यमंत्री सावंत ने कहा था , “इस सीजन में गन्ने का उत्पादन करने वालों को कोई नुकसान नहीं होगा। सरकार इन किसानों को समर्थन मूल्य प्रदान करने के अलावा, उनका गन्ना खरीदेगी और अन्य राज्यों में चीनी मिलों को आपूर्ति करेगी। ”

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here