उत्तर प्रदेश में चीनी मिलों को हैंड सैनिटाइजर उत्पादन करने की मिली अनुमति

406

कोरोना वायरस से निपटने के लिए लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें हर संभव कदम उठा रही हैं। कोरोना वायरस से जंग जितने के लिए अब डिस्टलरीज और चीनी मिलें सैनिटाइजर के उत्पादन के लिए जुट चुकी है।

उत्तर प्रदेश में चीनी मिलों को हैंड सैनिटाइजर उत्पादन करने के लिए अनुमति दी गई है। खबरों के मुताबिक, उत्तर प्रदेश की 20 चीनी मिलों को हैंड सैनिटाइजर बनाने का लाइसेंस जारी किया गया है। चीनी मिलें कुल मिलाकर दैनिक आधार पर 38,054 लीटर सैनिटाइजर का उत्पादन करेंगी। सैनिटाइजर बनाने वाली चीनी मिलों में बलरामपुर चीनी मिल्स लिमिटेड, बजाज हिंदुस्तान शुगर लिमिटेड, डीसीएम श्रीराम लिमिटेड, डालमिया भारत शुगर मिल्स लिमिटेड, सिम्भावली शुगर्स लिमिटेड, केएम शुगर लिमिटेड, अवध शुगर और उत्तम शुगर मिल्स लि और अन्य शामिल हैं।

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिएआम जनता, स्वास्थ्यकर्मियों, अस्पतालों आदि के द्वारा हैंड सैनिटाइजर्स का उपयोग किया जा रहा है। सैनिटाइज़र्स की मांग दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है तथा मांग और आपूर्ति में संतुलन बनाए रखने के लिएआबकारी आयुक्तों, गन्‍ना आयुक्‍तों,ड्रग कंट्रोलर्स के साथ-साथ विभिन्न राज्यों के जिला कलेक्टरों सहित राज्य सरकार के अधिकारियों को हैंड सैनिटाइज़र्स के निर्माताओं को इथेनॉल / ईएनए की आपूर्ति में सभी अड़चनों को दूर करने तथा हैंड सैनिटाइज़र्स बनाने के इच्‍छुक डिस्टिलरी (मद्यशाला) सहित आवेदकों को अनुमति/लाइसेंस देने की सलाह दी गई है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here