कोरोना का बांग्लादेश के चीनी उद्योग पर भी असर: चीनी मिल कर्मचारियों को नहीं मिल रहा वेतन

197

ढ़ाका: कोरोना का असर सिर्फ भारतीय चीनी उद्योग पर नहीं बल्कि अन्य चीनी उत्पादक देशों पर भी पडा है। बांग्लादेश में भी कोरोना ने चीनी उद्योग को ध्वस्त कर दिया है। देश की चीनी मिलों में भी चीनी नहीं बिक रही जिसके चलते राजस्व की दिक्कतें आ रही है और चीनी मिलें गन्ना किसान और कर्मचारियों को वेतन नहीं दे पा रही है।

बांग्लादेश के ठाकुरगांव चीनी मिल के कर्मचारियों ने मिल प्रबंधकों को चेताया है कि अगर उनके तीन महीने के वेतन और मजदूरों की मजदूरी नहीं दिये गये तो वे उग्र आंदोलन करेंगे। चीनी मिल के अहाते में बीते रविवार को दोपहर के 1 बजे इन कर्मचारियों ने ठाकुरगाँव शुगर मिल वर्कर्स एंड एम्पलाइज यूनियन के बैनर तले मानव श्रृंखला का आयोजन किया।

कर्मचारियों ने कहा कि यदि मिल के प्रबंधकों ने पीड़ित श्रमिकों और कर्मचारियों के पेंशन और मजदूरी का भुगतान जल्द से जल्द नहीं किया तो वे उग्र आंदोलन पर उतर जाएंगे। ठाकुरगाँव शुगर मिल्स वर्कर्स एंड इम्प्लॉइज यूनियन के अध्यक्ष एमडी उज़ल हुसैन और इसके महासचिव एनीत अली ने आयोजिक मानव श्रृंखला प्रोग्राम में उपस्थित कर्मचारियों और श्रमिकों को संबोधित किया।

ठाकुरगाँव शुगर मिल के प्रबंध निदेशक शखावत हुसैन ने कहा कि वे अपने अधिकारी श्रमिकों और कर्मचारियों के बकाए का भुगतान जल्द से जल्द कराने का पूरा प्रयास कर रहे हैं।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here